Amavasya : Somvati Amavasya सोमवती अमावस्या के दिन यह चार काम कर लिया। तो सभी कष्ट दूर होंगे।

Amavasya : Somvati Amavasya   हिंदू धर्म में बहुत ही खास महत्त्व है।

Amavasya : Somvati Amavasya सोमवती अमावस्या के दिन यह चार काम कर लिया। तो सभी कष्ट दूर होंगे।
सोर्स google

अमावस्या की रात का मतलब, जब चन्द्रमा पूरी तरीके से छिप जाता है। और यह कार्य जब भगवान शिव के दिन सोमवार को होती है, तो इसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है। सोमवती अमावस्या का भगवान शिव के श्रद्धालुओं में बहुत ही विशेष महत्त्व है

Amavasya:Somvati Amavasya:भगवान शिव को समर्पित सावन मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को सोमवती अमावस्या का व्रत रखा जाता है सावन में सोमवती अमावस्या। 17 जुलाई को पड़ रही है। इसे मौनी अमावस्या (Mauni Amavashya) भी कहा जाता है |

भगवान शिव की आराधना जो भी भक्त इस दिन सच्चे हृदय से करता है, उस पर महादेव की विशेष कृपा होती है। हिंदू धर्म के मान्यता के अनुसार ये कहा जाता है कि सोमवती अमावस्या के दिन व्रत रखने से सुहागिनों को अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद प्राप्त होता है|

वो चार काम जो, सोमवती अमावस्या के दिन करने से सारे कष्ट दूर करेंगे, उनके बारे में आपको।बताने जा रहे है|

दिया जलाएँ  पीपल पर।

तेल का दिया जलाना सोमवती अमावस्या में शुभ माना जाता है। दिया जलाने वक्त उसमें लॉन्ग भी डालें। इसके बाद पीपल की परिक्रमा करते हुए “ओम नमो भगवते वासुदेवायः” मंत्र का जाप भी करें। मंत्र का जाप करने से सारे पितृ दोष दूर हो जाते हैं।

भगवान भोलेनाथ की पूजा करें।

भगवान शिव की पूजा पूरे विधि विधान से करना बहुत ही फलदायक होता। पूजा करते हुए इस दिन। दूध, दही, बेलपत्र से शिवलिंग का अभिषेक करें,और “ओम नमः शिवाय: का मंत्र जाप करें।

पशुओं को रोटी खिलाएं|

इस दिन पशुओं को रोटी खिलाना बहुत ही शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि पशुओं विशेषकर काले कुत्ते को इस दिन रोटी खिलाने आरोग्य जीवन मिलता है। और जीवन पर इसका अच्छा असर पड़ता है|

मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं|

अपने नजदीकी किसी नदी या  तालाब में मछलियों को आटे की गोल गोल गोलियों खिलाना काफी शुभ  माना गया है। ऐसा माना जाता है कि  इसे करने से भगवान शिव का  आशीर्वाद मिलता है,और जीवन में आनंद और खुशहाली आती है।

Scroll to Top