Navratri 2023: ये 10 काम नवरात्रि में भूल से भी नहीं करने चाहिए, माता हो जाती हैं क्रोधित

Navratri 2023: ये 10 काम नवरात्रि में भूल से भी नहीं करने चाहिए , माता हो जाती हैं क्रोधित

Navratri 2023: नवरात्रि, भारतीय हिन्दू पर्वों में से एक है, जिसे विशेष भक्ति और आध्यात्मिकता के साथ मनाया जाता है। इस पर्व के दौरान मां दुर्गा की पूजा और उनके नौ रूपों की आराधना की जाती है। इसे अनुष्ठान और व्रत के रूप में भी मनाया जाता है। नवरात्रि 2023 की तारीखें 15 अक्टूबर से लेकर 23 अक्टूबर तक हैं। इन 9 दिनों में व्रती लोगों को कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इनकी भूल से भी उल्लंघन माता दुर्गा को क्रोधित कर सकता है।

यहाँ हैं उन 10 बातों की सूची जो नवरात्रि में नहीं करनी चाहिए:

Navratri 2023:लहसुन और प्याज का सेवन

नवरात्रि के दौरान व्रती को लहसुन और प्याज के साथ युक्त भोजन से बचना चाहिए। पौराणिक मान्यता है कि लहसुन और प्याज अशुद्ध माने जाते हैं, क्योंकि जहां राहु-केतु का रक्त गिरा था, वहीं से लहसुन-प्याज की उत्पत्ति हुई थी। नवरात्रि की पूजा का फल पाने के लिए इनका सेवन नहीं करना चाहिए।

Navratri 2023:काले रंग के कपड़े

नवरात्रि में व्रती को काले रंग के कपड़े पहनने से बचना चाहिए। इस दिनों का पर्व नवरंगी कपड़ों का है, जो दिव्यता और उत्साह को दर्शाता है।

दाढ़ी, नाखून, बाल काटना

नवरात्रि में व्रती को नौ दिन तक दाढ़ी, नाखून, और बाल नहीं काटने चाहिए। यह उनके साधना और तपस्या की दिशा में होता है और उन्हें पूजा के बदले फल की प्राप्ति होती है।

बिस्तर पर न सोना

नवरात्रि के इन दिनों, व्रती को बिस्तर पर नहीं सोना चाहिए। इन्हें दीर्घकायी यात्रा पर जाकर मां दुर्गा की पूजा करते हैं, और यह भी दिखाते हैं कि वे तन-मन दोनों को शुद्ध रखने के लिए समर्पित हैं।

शारीरिक संबंध न बनाना

नवरात्रि के दौरान, व्रती को भूल से भी शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए। इस दिन मां दुर्गा की पूजा में तन-मन दोनों को शुद्ध रखना महत्वपूर्ण है।

अखंड ज्योति की देखभाल

अगर आपने नवरात्रि में अखंड ज्योति जलाई है, तो उसमें निरंतर तेल या घी डालते रहना चाहिए। आखिरी दिन इसे स्वत: ही बुझने दें, खुद से फूंक मारकर न बुझाएं।

दुर्गा चालीसा और दुर्गा सप्तशती का पाठ

यदि आप दुर्गा चालीसा और दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं, तो इसका उच्चारण सही करें। गलत पढ़ने पर मां दुर्गा के क्रोध का प्रकोप झेलना पड़ सकता है।

Navratri 2023:बिना वजह किसी को परेशान न करें

नवरात्रि में कन्या, महिला, बुजुर्ग, पुश-पक्षियों को बेवजह परेशान न करें। इसके बजाय, हमें सभी के साथ मानसिक और शारीरिक रूप से सहायता करनी चाहिए।

निष्कर्षण

नवरात्रि एक शांति और साधना का समय होता है, और इसे ध्यान से मनाना चाहिए। हमें मां दुर्गा की पूजा को विशेष भक्ति और आदर के साथ करना चाहिए और उनके नियमों और मार्गदर्शन का पालन करना चाहिए।

Scroll to Top