Poshan Abhiyan 2023: पोषण अभियान क्या हैं? जाने पूरी जानकारी!

Poshan Abhiyan 2023: पोषण अभियान क्या हैं? जाने पूरी जानकारी!

Poshan Abhiyan 2023:पोषण अभियान क्या हैं? जाने पूरी जानकारी!
Poshan
Abhiyan
2023:पोषण अभियान क्या हैं? जाने पूरी जानकारी!

Poshan Abhiyan 2023: भारत एक विकासशील देश है, और हम अब तक विकास की ओर अग्रसर हो रहे हैं। लेकिन इस विकास की यात्रा में भी हमें एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है – कुपोषण। खासकर गरीब बच्चों को यह समस्या बहुत ज्यादा प्रभावित करती है। इसलिए सरकार ने इस समस्या को हल करने के लिए ‘Poshan Abhiyan’ नामक योजना की शुरुआत की है। आइए जानते हैं कि Poshan Abhiyan क्या है, इसके मुख्य उद्देश्य क्या है, और इससे आपको कैसे लाभ हो सकता है।

Poshan Abhiyan 2023 क्या हैं?

Poshan Abhiyan एक भारतीय सरकार द्वारा चलाई जाने वाली सरकारी योजना है जिसका मुख्य उद्देश्य देश के गरीब बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं, और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण को सुधारना है। इस योजना के अंतर्गत, यह सुनिश्चित किया जाता है कि बच्चों और महिलाओं के बीच कोई भी कुपोषण के लक्षण नहीं होते हैं।

Poshan Abhiyan को बनाने में भारत के नीति आयोग ने महत्वपूर्ण योगदान किया है, और इसका प्रबंधन महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा किया जाता है। यह योजना कुपोषण के खिलाफ विश्व का सबसे बड़ा अभियान है।

Poshan Abhiyan 2023 का उद्देश्य

सरकार ने जब Poshan Abhiyan को शुरू किया, तो इसके कुछ मुख्य उद्देश्य तय किए थे:

  1. बच्चों और महिलाओं को खाना प्रदान करवाना और अल्प पोषण के मामले में 2% तक की कमी करना: Poshan Abhiyan के अंतर्गत, गरीब बच्चों और महिलाओं को पर्याप्त खाना और पोषण प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है ताकि उनके पोषण स्तर में सुधार हो सके।
  2. नवजात शिशु में कम होने वाले वजन की समस्या को 2% तक कम करना: यह योजना नवजात शिशु के वजन को बढ़ावा देने के लिए कई माध्यमों का उपयोग करती है, ताकि नवजात शिशु का सही विकास हो सके।
  3. छोटे बच्चों, गर्भवती महिलाओं, किशोरों में एनीमिया के मामलो को 3% तक कम करना: Poshan Abhiyan के तहत, आनीमिया के मामलों को कम करने के लिए जागरूकता फैलाई जाती है और उचित पोषण प्रदान किया जाता है, ताकि लोग स्वस्थ रह सकें।
  4. पूरे देश में कुपोषण के मामलो में कमी करना: Poshan Abhiyan का उद्देश्य भारत में कुपोषण के मामलो को कम करके सभी लोगों को स्वस्थ रहने में मदद करना है।

Poshan Abhiyan किन लोगों के लिए हैं?

Poshan Abhiyan निम्नलिखित लोगों के लिए है:

  1. नवजात शिशु: यह योजना नवजात शिशु के सही विकास और स्वस्थ जीवन के लिए डिज़ाइन की गई है।
  2. किशोरियां: Poshan Abhiyan के अंतर्गत, किशोरियों को सही जीवन शैली और पोषण की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने का मौका मिलता है।
  3. गर्भवती महिलाएं: इस योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं के और उनके बच्चों के स्वास्थ्य को सुधारना है, ताकि स्वस्थ जन्म हो सके।
  4. बच्चे: Poshan Abhiyan बच्चों के स्वस्थ विकास और पोषण को प्राथमिकता देती है, ताकि वे स्वस्थ और खुशहाल जीवन जी सकें।

Poshan Maah क्या हैं?

सरकार द्वारा Poshan Abhiyan योजना शुरू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने हर साल सितम्बर के महीने को Poshan Maah के रूप में मनाने का पूरे देश को प्रोत्साहन दिया। Poshan Maah के दौरान, पूरे देश में पोषण से संबंधित गतिविधियां आयोजित की जाती हैं, जिसका उद्देश्य कुपोषण के मामलों को कम करना और लोगों को सही जानकारी प्राप्त करने में मदद करना है।

Poshan Abhiyan Data Entry

यदि आप Poshan Abhiyan से जुड़े डेटा एंट्री करना चाहते हैं, तो आप निम्नलिखित स्टेप्स का पालन कर सकते हैं:

  1. सबसे पहले, Poshan Abhiyan की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: https://poshanabhiyaan.gov.in/
  2. वेबसाइट पर, “Data Entry” का ऑप्शन मिलेगा, उस पर क्लिक करें।
  3. क्लिक करने के बाद, आपको Poshan Abhiyan Data Entry पृष्ठ पर पहुँचाया जाएगा, जहाँ आप अपना डेटा एंटर कर सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस लेख से Poshan Abhiyan के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिली होगी। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो, तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ साझा करना न भूलें।

आम पूछे जाने वाले प्रश्न:

  1. पोषण माह कब से शुरू होता हैं? पोषण माह हर साल भारत में सितम्बर के महीने में शुरू होता हैं।
  2. पोषण अभियान हेल्पलाइन नंबर क्या हैं? पोषण अभियान हेल्पलाइन नंबर हैं – 14408

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देश के गरीब बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं, और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण में सुधार करना है, ताकि कुपोषण से बच्चे और महिलाएं मुक्त हो सकें।

इस अभियान का संचालन महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा किया जाता है और यह दुनिया का सबसे बड़ा कुपोषण के खिलाफ अभियान है। यह अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 8 मार्च 2018 को शुरू किया गया था, ताकि भारत में कुपोषण के सभी मामलों को खत्म किया जा सके।

पोषण अभियान एक महत्वपूर्ण पहल है जो भारत के गरीब और असहाय वर्ग के लोगों के लिए हो रही है, ताकि वे स्वस्थ और मानवीय दिग्गजी की ओर बढ़ सकें।

इस लेख के माध्यम से, हमने Poshan Abhiyan के बारे में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आपका कोई भी प्रश्न है या आपको और अधिक जानकारी चाहिए, तो आप हमसे पूछ सकते हैं।

Scroll to Top